तहसीलदार छिब्बर की मुसीबतें बड़ीं, अग्रिम ज़मानत हुई रद्द

पंजाब

तहसीलदार छिब्बर की मुसीबतें बड़ीं, अग्रिम ज़मानत हुई रद्द
पुलिस ने कहा गिरफ्तारी ज़रुरी क्योंकि और खुलासे होने की संभावना
. आराेपी चल रहे फरार

पंजाब के कपूरथला से एक बहुत बड़ी खबर आ रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ED की शिकायत पर अटैच प्रापर्टी काे बेचने की साजिश के तीन आराेपियाें में से एक तहसीलदार प्रवीण छिब्बर की मुसीबतें कम हाेने की जगह बढ़ती हुई दिखाई दे रही हैं। क्याेंकि माननीय अदालत द्वारा छिब्बर की अग्रिम ज़मानत याचिका काे खारिज कर दिया गया है
हालांकि छिब्बर के पास इस फैसले के खिलाफ अपील दायर करने का विकल्प खुला है। मगर यह कहना गल्त नहीं हाेगा, कि माैजूदा समय के अंदर उनकी परेशानी कम हाेने की जगह और बढ़ती हुई दिखाई दे रही है।
अदालत में पुलिस की तरफ से दी गई दलील में कहा गया, कि छिब्बर की कस्टडी इसलिए ज़रूरी है, कि इस धाेखाधड़ी में विभाग के अन्य लाेग जाे शामिल हैं, उनका पता लगाया जाना है।
जबकि तहसीलदार छिब्बर के वकील की तरफ से कहा गया, कि एफआईआर दर्ज करने से पहले डीएम या फिर कंपीटैंट अथार्टी से राय नहीं ली गई। जाे कि सरासर गल्त व गैरकानूनी है।
माननीय अदालत ने दाेनाें पक्षाें की दलीलें सुनने के बाद तहसीलदार छिब्बर की अग्रिम ज़मानत याचिका काे यह कहते हुए रद्द कर दिया कि ज़मानत के लिए काेई खास वजह नहीं बताई जा सकी।
इसके इलावा इसी मामले में नामज़द पटवारी नरिंदर कुमार की तरफ से भी माननीय अदालत में अपनी अग्रिम जमानत याचिका दायर की गई है, जिसकी अगली सुनवाई साेमवार 19 जुलाई, 2021 काे है। फगवाड़ा की थाना सिटी पुलिस द्वारा ED (ENFORCEMENT DIRECTORATE) की शिकायत पर अटैच प्रापर्टी काे बेचने की साजिश के चलते तीन आराेपियाें जिसमें एक तहसीलदार प्रवीण छिब्बर जाे कि माैजूदा समय के अदर नकाेदर में तैनात हैं, मगर जिस समय प्रापर्टी की बिक्री हुई, तब उनकी तैनाती फगवाड़ा में बताैर तहसीलदार थी, एफआईआर दर्ज की गई थी। जानकारी के अनुसार तीनाें आराेपी फिल्हाल फरार बताए जा रहे हैं। इनकी गिरफ्तारी नहीं हुई है। इस बात की भी चर्चा है, कि तीनाें अपने रसूख व सैटिंग के दम पर गिरफ्तारी से बचने के लिए तरह-तरह के जुगाड़ लगा रहे हैं। ताकि वह सलाखाें के पीछे जाने से बच सकें।
मगर इनके अपराध काे देखते हुए यह कहना गल्त नहीं हाेगा, कि उक्त तीनाें आराेपियाें के लिए इस मामले से छूटना आसान साबित नहीं हाेने वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *